Best Hindi stories for kids

           Best Hindi stories for kids

                             अंगूर खट्टे हैं

एक बार  एक लोमड़ी जंगल से गुज़र रही थी और एक शाखा के ऊपर से लटके हुए अंगूरों के एक झुंड को देखा।

Hindi stories for kids

“बस यह मेरी प्यास बुझाने की चीज है,” उसने सोचा।

कुछ कदम पीछे हटने पर लोमड़ी उछल पड़ी और बस लटकते अंगूरों से चूक गई। फिर से लोमड़ी ने पैर वापस लिए और उन तक पहुंचने की कोशिश की फिर कोशिश कि लेकिन फिर भी असफल रही।

अंत में, हार मानकर लोमड़ी ने अपनी नाक घुमा ली और कहा, “मुझे ये अंगूर चाहिए ही नही ये तो खट्टे अंगूर है” और दूर जाने के लिए आगे बढ़ गई और जंगल में चली गई।

Moral of story:-
जब कोई चीज प्राप्त नही होती तो लोग उसमें fault निकालने लगते हैं।

                      एक गुलाम और शेर

एक गुलाम एक बार अपने मालिक की कैद से किसी तरह भागने में कामयाब हो जाता है। जब वह एक जंगल में से गुजर रहा होता है तो उसे दर्द से कराह रहे शेर की आवाज सुनाई देती है उससे शेर पर दया आ जाती है ।जब वह शेर के पास जाकर देखता है तो उससे पता चलता है कि शेर के पंजे में कांटा चुभा है। वह गुलाम शेर के पंजे से कांटे को निकाल देता है ।
उसे बिना चोट पहुंचाए शेर जंगल चला जाता है।

Hindi stories for kids
कुछ दिनों बाद, गुलाम  का मालिक जंगल में शिकार करने आता है और कई जानवरों को पकड़ता है और उन्हें पकड़ लेता है। गुलाम को स्वामी के आदमियों द्वारा देखा जाता है जो उसे पकड़ते हैं और उसे क्रूर स्वामी के पास ले जाते हैं।
मालिक ने गुलाम को शेर के पिंजरे में फेंकने के लिए कहा।
पिंजरे में गुलाम अपनी मौत का इंतजार कर रहा था पर शेर ने गुलाम के पैर चाटना शुरू कर दिया। अब गुलाम की ख़ुशी का ठिकाना न रहा क्योंकि ये वही शेर था जिसके पैर का कांटा उसने निकाला था।

Moral of story:
दूसरों की ज़रूरत में मदद करनी चाहिए, इसका पुरुष्कार एक न एक दिन जरूर मिलता है।

ये पॉपुलर कहानियाँ भी पढ़े

1. सोच
2.कोरा ज्ञान
3.पाँच बातें
4.two moral stories
5. Story in hindi एक बूढ़ा

story in hindi.

         Hindi stories … पसंद आई हो । तो शेयर जरूर करे । यदि आपके पास भी ऐसी hindi story with moral , motivational आर्टिकल हो तो हमें [email protected] पर भेजे हम आपके नाम और फोटो के साथ publish करेंगे। धन्यवाद !

   

       

Leave a Reply

Your email address will not be published.