Prushkar/ moral story in hindi for students

नमस्कार दोस्तो आज हम आपके लिए moral story in hindi for students ले कर आये हैं। उम्मीद है ये moral story आपको काफी पसंद आएगी।

 

एक बार एक राजा अपने राज्य के भ्रमण पर निकला । उसने राज्य की गली गली घूमा  व्यापारियों को व्यापार करते देखा माँ को अपने बच्चों को सँभालते हुए देखा किसानों को खेत में कड़ी मेहनत करते हुए देखा सभी खुशहाल नज़र आ रहे थे। 

Moral stories for students, moral hindi stories for kids

 

ये सब देखकर राजा कुछ गंभीर मुद्रा में सोचने लगा फिर हल्का सा मुस्कुराया जिससे प्रतीत हुआ कि राजा ने कुछ खास योजना बनायी है। फिर राजा ने अपने सैनिकों को कुछ समझाया और कहा  कि आज रात को इस सड़क के बीचों बीच एक भारी पत्थर रख दें।

अगली सुबह राजा ने फिर उसी जगह पर आ कर देखा की जैसा उसने अपने सैनिकों को कहा था उसी के अनुसार कार्य किया गया है। अब राजा छुपकर अपनी प्रजा की प्रतिक्रिया देखने लगा।

 

कुछ देर में चार लोग उस रास्ते पर आते हुए दिखे जैसे ही उन लोगो ने सड़क की बीच पत्थर देखो तो चारो राज को कोस ने लगे की हमारा राजा हमारे लिए कुछ नही करता सड़क पर बन्द है पर राजा ने अभी तक सड़क पर से इस बड़े पत्थर को नही हटवाया। ऐसी बातें करके वो चले गए। राजा चुपचाप छिपकर उनकी बातें सुनता रहा।

इसी प्रकार जो भी बन्दा वहाँ से निकलता राजा को ही कोसता। ऐसा होते होते शाम हो गयी राजा को अपनी प्रजा की ऐसी प्रतिक्रिया देखकर काफी दुःख हुआ । अब उसकी उम्मीद टूट गयी की कोई बन्दा उस पत्थर को हटायेगा। उसी समय राजा को दूर से एक सब्जी वाला आता हुआ दिखाई दिया। वह सब्जी वाला अधेड़ उम्र का लग रहा था। सर पर सब्जी की टोकरी थी । जैसे ही वह सब्जी वाला उस पत्थर के पास आया और रुक कर उस पत्थर को देखने लगा फिर उसने सड़क के चारो तरफ देखा सड़क सुनसान थी कोई बन्दा नही था। फिर कुछ देर उसने कुछ सोचा और अपने सिर की सब्जी की टोकरी को नीचे रखा और पत्थर को सड़क से हटाने लगा। पत्थर काफी भारी था उसे हटाने के लिए उस व्यक्ति को काफी मेहनत करनी पड़ रही थी पर उसने हार नही मानी और जोर लगाया जिससे पत्थर सड़क से हट गया । पर ये क्या पत्थर के नीचे एक हजार सोने के सिक्के थे और एक पत्र था। जिस पर लिखा था कि जो व्यक्ति इस पत्थर को हटायेगा ये एक हजार सोने के सिक्के उसकी मेहनत का इनाम हैं।

 

Moral of story – जो व्यक्ति मेहनत करता मेहनत करता है उसे उसका फल जरूर मिलता है। कोई आपकी problem solve करेगा उसका इतंजार न कर अपनी problem स्वयं हल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.